काफी समय से बाजार में चर्चा का विषय बनी रहने के बाद Skoda Koriaq को बाजार में लॉन्च कर दिया गया है। इसकी शुरुआती कीमत कंपनी ने 24 लाख 99 हजार रुपये एक्सशोरूम दिल्ली रखी है। भारत में इस गाड़ी को छह रंगों; कैंडी व्हाइट, मैग्नेटिक ब्राउन, लावा ब्लू, मैजिक ब्लैक, ब्रिलियंट सिल्वर और क्वार्ट्ज ग्रे में कंपनी ने पेश किया है। ये कार देश के सभी स्‍कोडा डीलरशिप पर उपलब्‍ध है।

डिजाइन
करॉक्यू की लंबाई 4,382 मिमी, चौड़ाई 1,841 मिमी और ऊँचाई 1,624 मिमी है इसका व्हीलबेस 2,638 मिमी का है इसी के अनुपात में बेहद शानदार इंटीरियर की झलक देता है। व्हीलबेस की लंबाई अधिक होने से न केवल गाड़ी के अंदर जगह बढ़ती है बल्कि बढ़िया बूट स्पेस भी मिलता है। इसमें आपको 521 लीटर का बूट स्पेस भी मिलेगा, जो इस श्रेणी में सबसे अधिक है, साथ ही 60:40 के अनुपात में विभाजन योग्य पीछे की सीटों को नीचे मोड़कर बूट स्पेस को 1,630 लीटर तक बढ़ाया जा सकता है। इसमें आर 17 इंच के टायर मिलते हैं।

इंटीरियर व फीचर
ये प्रॉक्सिमिटी सेंसर के साथ 20.32 सेमी का अत्याधुनिक कैपेसिटिव टच डिस्प्ले, ग्लास डिज़ाइन की सुविधा से लैस है, जो स्कॉडा द्वारा विकसित नई पीढ़ी के एमन्डसेन इंफोटेनमेंट एंड नेविगेशन सिस्टम का एक हिस्सा है। नई स्कोडा कोरियक SmartLink+™ (स्कॉडा कनेक्टिविटी बंडल, जो MirrorLink™, एप्पल कार प्ले और एंड्राइड ऑटो को सपोर्ट करता है) की तकनीक से सुसज्जित है, जो ध्यान भटकाए बिना ड्राइविंग करने तथा किसी प्रकार की परेशानी के बिना लगातार कनेक्टिविटी के लिए स्मार्टफोन की तरह काम करता है। यह वॉयस कमांड कंट्रोल को सपोर्ट करता है, साथ ही इसमें SD कार्ड रीडर, USB पोर्ट और Bluetooth® GSM टेलीफोनी एवं ऑडियो स्ट्रीमिंग के विकल्प जैसी सुविधाएं भी मौजूद हैं। नई करॉक्यू में वर्चुअल कॉकपिट तथा कस्टमाइज़ करने योग्य डिजिटल इंस्ट्रूमेंट पैनल है, जो ड्राइविंग डेटा और नेविगेशन के संदर्भ में इसे ‘सिम्पली क्लेवर’ बनाता है। एयर केयर फ़ंक्शन के साथ टू-ज़ोन क्लाइमैट्रोनिक एयर कंडीशनिंग सिस्टम, ड्राइवर और सामने की सीट पर बैठे यात्री के अलावा पीछे बैठे यात्रियों के लिए भी अलग-अलग तापमान सेट करने में सक्षम बनाते हैं। इसमें सन सेंसर के अलावा ह्यूमिडिटी सेंसर भी लगाया गया है, जो विंडस्क्रीन की धुंध को कम करता है। गाड़ी में प्रवेश के स्थान को रोशन करने के लिए डिजाइन किए गए बोर्डिंग स्पॉट लैंप, बाहरी साइड-व्यू मिरर पर लगाए गए हैं। इसके अलावा, नई स्कॉडा करॉक्यू क्रूज़ कंट्रोल और ऑटोमेटिक रेन सेंसिंग वाइपर्स जैसी सुविधाओं से भी सुसज्जित है।

इंजन और ट्रांसमिशन
Skoda Koriaq का बोल्ड स्टाइल और इस श्रेणी में सबसे ज्यादा स्पेस लोगों के बीच चर्चा का विषय हो सकता है, लेकिन कार की आंतरिक कार्यप्रणाली भी इतनी ही आकर्षक कहानी बयां करती है। ऑटोमैटिक सेवन स्पीड DSG गियरबॉक्स के साथ लगाया गया नया 1.5 TSI पेट्रोल इंजन, नए स्कॉडा करॉक्यू का सबसे महत्वपूर्ण घटक है। 16 वॉल्व वाले ड्यूल ओवर-हेड कैम्शैफ्ट (DOHC) के साथ, यह 150 PS (110 kW) की पावर तथा 250Nm का पीक टॉर्क आउटपुट उत्पन्न करता है, जबकि ईंधन दक्षता (हाई फेज WLTP) के इसके आंकड़े 16.95 किमी/ लीटर हैं तथा इसकी टॉप स्पीड 202 किमी/ घंटा है। एक्टिव सिलेंडर टेक्नोलॉजी वाहन में पावर की जरूरत के अनुसार चार में से दो सिलेंडरों को स्वचालित रूप से बंद करके ज्यादा ईंधन की बचत में सहायक है; सचमुच यह ‘सिम्पली क्लेवर’ है!

सुरक्षा के लिहाज से
नई स्कॉडा करॉक्यू में कई तरह के स्टैंडर्ड सेफ्टी फीचर्स मौजूद हैं, जैसे कि 9 एयरबैग्स: ड्यूल फ्रंट एयरबैग्स, आगे और पीछे की तरफ साइड एयरबैग्स, ड्राइवर नी एयरबैग के साथ-साथ आगे और पीछे की तरफ कर्टन एयरबैग, जो इस सेगमेंट में बेंचमार्क के तौर पर बरक़रार हैं। नए करॉक्यू की हेडलाइट्स AFS (एडैप्टिव फ्रंट-लाइटिंग सिस्टम) फंक्शन से लैस हैं, जिससे सड़क और उसके आसपास पर्याप्त रोशनी मिलती है। ये हेडलैम्प्स गति में बदलाव के अलावा अलग-अलग तरह के प्रकाश और मौसम की स्थिति के अनुरूप प्रतिक्रिया दे सकते हैं। AFS सिस्टम में डाइनैमिक हेडलैम्प इन्क्लनेशन कंट्रोल के अलावा, हेडलैम्प को घुमाने और मोड़ने के फ़ंक्शन भी शामिल हैं। स्कॉडा करॉक्यू में iBuzz फटीग अलर्ट कीसुविधाउपलब्धहै, जो चालक के थके होने के संकेतों का पता लगाता है और उसे ब्रेक लेने के लिए सूचित करता है। इसके अलावा, वाहन में उपलब्ध सिक्योरिटी इक्विपमेंट तथा सेफ्टी सपोर्ट फंक्शंस में ABS (एंटी-लॉक ब्रेकिंग सिस्टम), ESC (इलेक्ट्रॉनिक स्टैबिलिटी कंट्रोल), EBD (इलेक्ट्रॉनिक ब्रेक-फोर्स डिस्ट्रीब्यूशन), MBA (मैकेनिकल ब्रेक असिस्ट), MKB (मल्टी कलिश़न ब्रेक), HBA (हिल ब्रेक असिस्ट), ASR (एंटी स्लिप रेगुलेशन), EDS (इलेक्ट्रॉनिक डिफरेंशियल लॉक), ऑटो होल्ड फ़ंक्शन के साथ इलेक्ट्रोमैकेनिकल पार्किंग ब्रेक, टायर प्रेशर मॉनिटरिंग सिस्टम, स्पीड बहुत ज्यादा होने पर एकॉस्टिक वॉर्निंग सिग्नल, फ्लोटिंग कोड सिस्टम के साथ इंजन इम्मोबिलाइज़र, अगले और पिछले हिस्से में पार्कट्रोनिक सेंसर एवं स्पीकर, तथा इंजन स्टार्ट / स्टॉप बटन के साथ KESSY (कीलेस एंट्री, स्टार्ट और एग्जिट सिस्टम) शामिल हैं।

वारंटी
‘स्कॉडा शील्ड प्लस’ 6 साल तक बिना किसी परेशानी के स्वामित्व के अनुभव के साथ-साथ अधिकतम सीमा तक ‘मन की शांति’ को सुनिश्चित करता है। इसमें मोटर बीमा के अलावा सड़क पर 24×7 सहायता, तथा एक्सटेंडेड वारंटी शामिल है। इससे पहले भी स्कॉडा ऑटो ने भारत में पहली बार 4 वर्षीय सर्विस केयर प्रोग्राम (4 साल की वारंटी, 4 साल की सड़क पर सहायता तथा 4 साल के रखरखाव पैकेज का विकल्प) की शुरुआत की थी।

ईंधन की खपत

WLTP फेज़ ईंधन की खपत (KMPL)
लो फेज़ 11.36
मिड फेज़ 15.38
हाई फेज़ 16.95
एक्स्ट्रा हाई फेज़ 13.89
कम्बाइन्ड 14.49