ग्राहक भगवान होता है। इस बात को भारत में दूर देश से अपने कारोबार का साम्राज्य फैलाने आई कंपनियां भली भांति समझती हैं। बदलते वक्त ने कंपटीशन की हवा को इतना तेज कर दिया है कि लोग अपने पैर जमा नहीं पा रहे हैं। लेकिन इसके बावजूद भारतीय बाजार इस बात का गवाह बना है कि बढ़िया उत्पाद जब भी यहां पर आए तो उन्हें ग्राहकों ने तहेदिल से इज्जत दी है। इस भूमिका को यहां पर बताने की जरूरत इसलिए पड़ी क्योंकि आज हम आपको एक ऐसी कार से रूबरू करवाने जा रहे हैं जिसने ग्रेटर नोएडा के ऑटो एक्सपो में काफी वाहवाही बटोरी थी। तो आइए आपको ले चलते हैं Toyoya Yaris की ड्राइव पर। इसका नाम भले ही देशी न हो पर इसके उच्चारण में कोई दोष नहीं है और ये पूरी तरह से देशी लगती है।

‌‌दिखने में
पहली नजर में देखने से आपको ये कहीं से नहीं लगेगा कि ये किसी और कंपनी की कार है। इसको देखते ही आप बता देंगे कि यह टोयोटा की एक सेडान है जो भारतीय बाजार के एक ऐसे सेगमेंट में अपना भाग्य आजमाने आई है जिसमें बीते एक दशक से हौंडा सिटी की तूती बोलती है। यह एक मिड साइज लग्जरी सेडान है। सामने से अगर ध्यान से इसके बोनट पर उभरती लाइनों को आप देखेंगे तो एक अलग सी ताजगी भरी डिजाइन के दर्शन आपको यहां होंगे। दर्शन का जिक्र इसलिए किया क्योंकि इसके बोनट के दोनों तरफ से उभरती पैरलल दो लाइनें ठीक उसी तरह से नजर आती हैं जैसे रामानंद संप्रदाय में साधू लोग तिलक करते हैं।

टोयोटा का लोगो उस तिलक के नीचे लगने वाला टीका जैसा प्रतीत होता है। हालांकि ये डिजाइन है और इसमें धार्मिकता का समावेश कोई नहीं करता पर इसमें संयोगवश ऐसा बन पड़ा है। इसमें प्रोजक्टर हेडलैंप दिया गया है जो लंबाई में पीछे की तरफ काफी दूर तक खिंचा दिखता है। इसका हेडलैंप, डीआरएल और फॉगलैंप का यूनिट पूरी तरह से एक दूसरे को कांप्लीमेंट करते हैं। Yaris के बगल खिंच रही लाइनें भी एक उद्देश्यपूर्ण लगती हैं और इसे एक खूबसूरत अंदाज प्रदान करने में कोई कसर नहीं छोड़तीं। गाड़ी के रियर में 1.5 लीटर के साथ दिया गया गाड़ी का वेरिएंट और Yaris लिखा हुआ है जो कि सामान्य व सही ढंग से प्रस्तुत किया गया लगता है। गाड़ी के पीछे लगे रियर कांबीनेशन लैंप में एलईडी लाइन गाइड अंकित है। कुल मिलाकर डिजाइन के तौर पर यह आपको दिलकश लगेगी व इसकी लंबाई व डिजाइन इसकी खूबसूरती को आपके आंखों में भर देगी।

सुरक्षा के तौर पर
सुरक्षा के लिहाज से यह एक संपूर्ण कार है। इसमें आपको 7 एसआरएस बैग के साथ टायर प्रेशर मॉनीटरिंग सिस्टम भी मिलेगा। इसके साथ ही ये कार एडिशनल सेफ्टी फीचर्स जैसे कि वेहिकल स्टेबिलिटी कंट्रोल, हिल स्टार्ट असिस्ट कंट्रोल और चारों पहियों पर डिस्क ब्रेक मिलेंगे। डिस्क ब्रेक का असर इसकी शानदार ब्रेकिंग में पूरी तरह से रेफलेक्ट होता है। नई टोयोटा Yaris सेफ्टी के मामले में आपको कहीं से भी निराश नहीं करेगी। इस कार में आगे व पीछे लगे रियर पार्किंग सेंसर आपको पूरी तरह से मदद करते हैं।

अंदर बैठकर
नई टोयोटा यारिश एक ऐसी कार है जिसे आप पीछे बैठकर चलने के बजाए इसे चलाना पसंद करेंगे। इसके बूट की जगह थोड़ी कम करके पीछे की सीट को आरामदायक बनाया गया है। पिछली सीट का डिजाइन ऐसा है ‌कि आप पीछे बैठे हुए बूट एक्सेस कर सकते हैं। हालांकि आपको कार में एंड्रायड ऑटो प्ले या फिर एपल कार प्ले नहीं मिलेगा। पर इसके टचस्क्रीन वाले इंफोटेनमेंट सिस्टम में ऐसा फीचर दिया गया है जो आपको काफी पसंद आएगा। इसके इंफोटेनमेंट सिस्टम में आपको गेस्चर कंट्रोल के साथ नेवीगेशन भी दिया गया है।

गेस्चर कंट्रोल के तहत आप अपने हथेली के सहारे बिना स्क्रीन छुए चैनल बदलने के साथ-साथ वॉल्यूम कंट्रोल को भी घटा बढ़ा सकते हैं। इसके केबिन में आपको आराम के सारे साधन मिलेंगे जो कि एक लग्जरी कार के लिए जरूरी समझा जाता है। क्रूज कंट्रोल और पैडल शिफ्ट जहां आपको एक ओर ड्राइविंग में मदद करते हैं तो वहीं रूफ माउंट एयर वेंट एंबिएंट इल्यूमिनेशन के साथ आपको तपती गर्मी से राहत देता है। ड्राइवर सीट इलेक्ट्रिकली अडजस्टेबल है बाकी सीटें पारंपरिक अंदाज में ही आगे पीछे होती हैं। इस कार में पेट्रोल का पूरा लेखा-जोखा रखने का फीचर है जिसमें आप पाई-पाई का हिसाब पता कर सकते हैं जो आपने अपनी गाड़ी में पेट्रोल के रूप में डलवाया है। स्टीयरिंग माउंटेड ऑडियो कंट्रोल आपको चैनल बदलने की पूरी आजादी देते हैं।

यारिस डीजल विकल्प के साथ नहीं
एक रिपोर्ट के मुताबिक इस सेगमेंट में अब 60 से 70 फीसदी गाड़ियां पेट्रोल से चलने वाली हैं। डीजल की मांग लगातर घट रही है क्योंकि पेट्रोल-डीजल के बीच का अंतर काफी कम हो गया है। इसलिए यारिश को डीजल में लाने का टोयोटा का कोई इरादा नहीं है। इसका पेट्रोल इंजन मैनुअल जहां 17.1 किमीप्रली(कंपनी का दावा) का माइलेज देता है तो वहीं सीवीटी से 17.8 किमीप्रली का माइलेज आता है। पेट्रोल इंजन के साथ अगर ये आंकड़े निकलते हैं तो काफी अच्छा है। लोग शुरू में डीजल इंजन के लिए ज्यादा पैसा चुकाते हैं उस लिहाज से अब पेट्रोल इंजन खुद को जस्टीफाई भी करते हैं।

इंजन व परफॉर्मेंस
टोयोटा Yaris में कंपनी ने 2 एनआर एफई, 4 सिलेंडर इनलाइन, 16 वॉल्व, ड्यूल वीवीटीआई इंजन लगा है जिसकी क्षमता 1496 सीसी की है। इस इंजन में इलेक्ट्रॉनिक फ्यूल इंजेक्शन सिस्टम लगा है। यह इंजन 107 पीएस की शक्ति 6000 आरपीएम पर तथा 140 एनएम का टॉर्क 4200 आरपीएम पर प्रदान करता है। यह इंजन अपनी दक्षता से आपको जरूर प्रभावित करेगा। अगर आप सीवीटी ड्राइव करेंगे तो मानकर चलिए आपको म्युजिक सिस्टम से ज्यादा दिलचस्पी इंजन से निकलने वाली आवाज सुनने में रहेगा।

इसका इंजन छोटा भले है पर दहाड़ने की कोशिश सुपरकार जैसी प्रतीत होती है। उच्च गति पर भी यह ड्राइवर का भरोसा नहीं खोने देती और हर पल हर स्थिति के लिए तैयार रहती है। कॉर्नर से गुजरते वक्त ये अपनी लाइन पर बनी रहती है तथा इसका स्टीयरिंग व्हील बढ़िया फीडबैक के साथ अपनी भूमिका अदा कर देता है। कुल मिलाकर यह रोजमर्रा के लिहाज से बढ़िया कार साबित होती है। इसका सीवीटी, एमटी से बेहतर माइलेज देता है ये देखकर आपका चेहरा जरूर खिल जाएगा।

हमारा फैसला
अगर आप टोयोटा के प्रशंसक हैं या फिर हौंडा सिटी व हुंडई वर्ना के अलावा इस सेगमेंट में कोई विकल्प तलाश रहे हैं तो Yaris आपकी मुराद पूरी कर देगी। सिर्फ एकाध चीजें जैसे कि गाड़़ी का बूट अपने आप गाड़ी अनलॉक होने पर नहीं खुलता, कुछ लेटेस्ट फीचर जैसे कि एंड्रायड कार प्ले या एपल कार प्ले जैसी चीजें आपको नहीं मिलेंगी। पर इसके बावजूद एक कार के तौर पर टोयोटा ने अपनी विश्सनीयता और बढ़िया कार का एक और नमूना पेश किया है। Yaris आपको निराश नहीं करेगी और कई मामले में कंपटीशन से बढ़िया विकल्प मुहैया कराएगी। अगर टोयोटा ने कीमत पर काबू रखा तो इस बात में कोई दो राय नहीं है कि Yaris सफलता का नया अध्याय लिखने को तैयार है।

टोयोटा यारिस का वीडियो रिव्यू देखेंः-