गो-ज़ीरो मोबिलिटी, ब्रिटिश इलेक्ट्रिक बाइक निर्माता जो प्रीमियम इलेक्ट्रिक परफॉर्मेंस बाइक और सिग्नेचर लाइफस्टाइल मर्चेंडाइज बनाती है, ने आज भारतीय बाजार में प्रवेश की घोषणा की। बर्मिंघम, यूनाइटेड किंगडम में एक साल तक डिजाइन और टेक्नोलाॅजी डेवलपमेंट के बाद, गोज़ीरो मोबिलिटी ने भारतीय बाजार में अपने उत्पादों को पेश कर नई शुरूआत करने का फेसला किया है, जो दुनिया के सबसे बड़े 2-व्हीलर और साइकिल बाजारों में से एक है।

गो-ज़ीरो मोबिलिटी ने भारत में अपनी इस नई शुरुआत के लिए अपने दो प्रमुख उत्पादों “वन” और “माइल” हाई परफॉर्मेंस ई-बाइक्स को नई दिल्ली में लॉन्च किया है। इन ई-बाइक्स को आने वाले समय में चरणबद्ध तरीके से भारत के बाकी हिस्सों में पेश किया जाएगा।

उद्योग में बड़े स्तर पर अपनी उपस्थिति को महसूस करवाने के लिए डिज़ाइन किया गया, गोज़ीरो वन को 400डब्ल्यूएच लिथियम बैटरी पैक के साथ पाॅवर्ड किया गया है, जो सिंगल चार्ज पर 60 किलोमीटर रेंज प्रदान करने के लिए कस्टमाइज्ड है और गो-ज़ीरोे माइल 300डब्ल्यूएच लिथियम बैटरी पैक के साथ पाॅवर्ड है जो 45 किलोमीटर रेंज प्रदान करता है। दोनों बेहतरीन प्रदर्शन करने वाले ई-बाइक्स हैं जो सर्वाधिक स्थिरता और आराम प्रदान करते हैं और उपयोगकर्ताओं को सवारी के तरीके को चुनने की स्वतंत्रता देते हुए मल्टी-ऑपरेशन के साथ आते हैं और इनमें थ्रॉटल, पेडल असिस्ट, क्रूज़ मोड, वॉक मोड और मैनुअल पेडल जैसे विकल्प दिए गए हैं।

गो-ज़ीरोे मोबिलिटी ने कोलकाता में स्थित कंपनी कीर्ति सोलर के साथ वर्तमान और भविष्य के उत्पादों के विकास और विनिर्माण के लिए “मेक इन इंडिया“ के तहत ग्लोबल सप्लाई चेन का उपयोग करने के लिए साझेदारी की है। इस सहभागिता के एक भाग के रूप में, कीर्ति सोलर ने गो-ज़ीरोे मोबिलिटी में 250,000 अमरीकी डालर का निवेश किया है। कोलकाता, पश्चिम बंगाल में इन ई-बाइक्स का निर्माण शुरू किया गया है और इस प्लांट की वर्तमान उत्पादन क्षमता प्रतिवर्ष 20,000 यूनिटस की है, जिसे आगे बढ़ाया जा सकता है। यह साझेदारी वैश्विक बाजार के लिए है और इसका लक्ष्य भारत को गो-ज़ीरोे ई-बाइक्स की वैश्विक बिक्री के लिए निर्यात केंद्र के रूप में तैयार करना है।

भारत में अपने प्रवेश और इस बाजार के लिए अपनी योजनाओं के बारे में बात करते हुए श्री अंकित कुमार, सीईओ, गो-ज़ीरोे मोबिलिटी ने कहा कि “भारत सरकार द्वारा इलेक्ट्रिक मोबिलिटी के लिए विशेष रूप से 2-व्हीलर्स पर महत्वपूर्ण ध्यान देने के साथ, हम वर्तमान समय में इस बाजार में प्रवेश करना, एक उपयुक्त समय के रूप में देखते हैं। विश्व स्तर पर ई-बाइक एक प्रमुख भूमिका निभा रही है जिससे यूजर्स तेजी से ट्रांसपोर्टेशन कर सकते हैं और प्रदूषण पर अंकुश लगाने और यातायात की भीड़ को कम करने में योगदान कर सकती हैं। पिछले कुछ हफ्तों में, हमने नई दिल्ली जैसे शहरों में एक्यूआई को सबसे खराब स्तरों पर देखा है, यह एक खतरनाक स्थिति है और इस पर तत्काल ध्यान देने की आवश्यकता है। हम ई-बाइक को भारत में हमारे ट्रांसपोर्टेशन के तरीके को बदलने में एक प्रमुख भूमिका निभाते हुए देख रहे हैं। गोज़ीरो बेहतरीन प्रदर्शन करने में सक्षम उत्पादों की पेशकश करने और ट्रांसपोर्टेशन के लिए एक ग्रीन-वे बनाने के लिए पूरी तरह से समर्पित है।”

भारतीय बाजार में अपनी साझेदारी पर, अंकित कुमार ने कहा “कीर्ति सोलर के साथ साझेदारी करके हम बहुत खुश हैं। केएसएल, निर्माण और वितरण के क्षेत्रों में काफी अनुभवी और विशेषज्ञता रखता है और हम विभिन्न उपभोक्ता क्षेत्रों के लिए अधिक उत्पाद बनाने के लिए मिलकर काम करेंगे।“

साइकिल उद्योग एक बहुत ही उच्च क्षमता वाला उद्योग है और इसमें ढ़ेरों अवसर हैं। आज भारत में साइकिल बाजार 16.5 लाख यूनिट है और प्रीमियम साइकिल बाजार लगभग 350,000 यूनिट का है। “हम इसे एक तेजी से बढ़ते बाजार के रूप में देखते हैं और इसलिए इसमें मौजूद प्रतिस्पर्धा के चलते हम बेहतरीन उत्पादों को प्रस्तुत करने और उनकी अच्छी बिक्री के लिए विशेष प्रयास कर रहे हैं।“

श्री अंकित ने उत्पादों पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि “दोनों उत्पाद वन और माइल केवल भारत, अफ्रीका और साउथ-ईस्ट एशिया के लिए हैं। हम पहले वर्ष में 3000 इकाइयां बेचने का अनुमान लगा रहे हैं और अगले 5 वर्षों में 75,000 तक के स्तर पर लेकर जाने का लक्ष्य तय किया गया है। हमारे पास 2019 में लॉन्च होने वाली ई-बाइक्स की नई सीरीज जिनमें डिलीवआर, वन डब्ल्यू और ज़ीरो स्मार्ट शामिल हैं और इनको भारत, यूके और यूरोप के बाजारों में लाॅन्च किया जाएगा।

उन्होंने बताया कि “हमारे पास दो उत्पाद सेगमेंट हैं-ई बाइक और सिग्नेचर अपेरल्स; और हम दोनों वर्टिकल पर ध्यान केंद्रित करते हैं। हम देखते हैं कि यह उपभोक्ताओं के लिए एक बहुत ही अनूठी पेशकश है। हम अपने ब्रांड एक्सपीरिएंस सेंटर्स के माध्यम से ग्राहकों को अनुभव प्राप्त करने में सक्षम बनाने का प्रयास कर रहे हैं।”

अंकित कुमार ने कहा कि “आज उद्योग में बड़ी चुनौती जागरूकता है, हम आज तक एक भी व्यक्ति के संपर्क में नहीं आए हैं जिन्होंने ई-बाइक की कोशिश की है, लेकिन इसे खरीदा नहीं है। वे केवल ई-बाइक और इसके फायदों के बारे में नहीं जानते हैं और यह मुख्य रूप से सीमित पहुंच के कारण है। आज, ज्यादातर ई-बाइक कंपनियां अपने उत्पादों को ऑनलाइन मार्केटप्लेस के माध्यम से बेचती हैं और बहुत कम ग्राहक इनको आॅनलाइन खरीदते हैं।”

गो-ज़ीरोे ने प्रमुख शहरों में एक्सक्लूसिव एक्सपीरिएंस जोन के साथ दोतरफा दृष्टिकोण, ऑनलाइन बिक्री और वितरक / डीलर चैनल स्थापित करने का फैसला किया है। गो-ज़ीरोे अगले 2 वर्षों में 18 एक्सपीरिएंस सेंटर और 1000 से अधिक रिटेल विक्रेताओं का नेटवर्क स्थापित करने की योजना बना रही है। गोज़ीरो यूके में डिज़ाइन की गई लाइफस्टाइल मर्चेंडाइज की अपनी सिग्नेचर रेंज भी लॉन्च करने जा रही है, जिसमें टीज़, स्वेट शर्ट, जैकेट, बेल्ट और वॉलेट आदि शामिल हैं।

दोनों ई-बाइक लॉकबल बैटरी पैक के साथ आती हैं जो चार्ज और कैरी करने के लिए बहुत सुविधाजनक है। माइल का मूल्य 29,999 रुपये और वन का मूल्य 32,999 रुपये है।