‘आठवाँ ईवी एक्स्पो 2018’ पर्यावरण-अनुकूल ईलैकट्रिक वाहन प्रौद्योगिकी को समर्पित है जिसका आयोजन नई दिल्ली के प्रगति मैदान में 21 से23 दिसंबर, 2018 को  किया जा रहा है। तीन दिवसीय एक्सपो का उद्घाटन केंद्रीय सड़क परिवहन व राजमार्ग मंत्री श्री नितिन गडकरी द्वारा 21 दिसंबर को हॉल नंबर 7 में सुबह 10:00 बजे किया जायेगा।

प्रगति मैदान के हॉल नं 7 में 110,000 वर्ग फुट में फैली, यह भारत की सबसे बढ़ी इलेक्ट्रिक वाहन प्रदर्शनी होगी और इको—फ्रैंडली 2,3,4 पहिए वाले इलेक्ट्रिक व्हिकल, पुर्जे, अंश और सामान, आर एंड डी, चार्जिंग स्टेशनस तथा इस क्षेत्र से संबंधित उत्पाद और सेवाओं में नए तकनीकी बदलाव और उन्नति को प्रस्तुत करेगी। 150 से अधिक  राष्ट्रीय तथा अन्तराष्ट्रीय ई-वहिक्ल कम्पनियां इस एक्सपो में अपने प्रदूषण रहित नवीनतम  ई -वाहन , लिथियम आयन बैटरीज और नवीनतम चार्जिंग  सोलूशन्स भी प्रदर्शित करेंगी।

एक्सपो के कुछ आकर्षण होंगे –

महिंद्रा इलेक्ट्रिक के इलेक्ट्रिक ऑटोस व् इलेक्ट्रिक कार
गोयनका इलेक्ट्रिक-ओलेक्ट्रा बी व्हाई डी और फोटोन एम पी आयी की इलेक्ट्रिक बसें।
ऑटोलाइट (इंडिया) लिमिटेड, एस यू  ऑटोमोटिव, तेजसग्रीन ऑटोमोटिव, पुबांग इट्रोन और स्पीगो व्हीकल्स द्वारा इलेक्ट्रिक-स्कूटर्स/बाइक्स की लांच
ठुकराल इलेक्ट्रिक, महिंद्रा इलेक्ट्रिक और चैंपियन पॉलीप्लास्ट के इलेक्ट्रिक ऑटोस
कौसलाईट इंडिया और ओकाया  पावर द्रवारा नवीनतम बैटरीज तथा चार्जिंग सोलूशन्स
ऑल्टियस द्रवारा मौजूदा डीज़ल और पेट्रोल पे चलने वाले वाहनों को इलेक्ट्रिक वाहनों में बदलनें वाली टेक्नोलॉजी
इसके आलावा बहुत से प्रदर्शक अपनी नई टेक्नोलॉजी और सेवाओं के प्रदर्शन करेंगे

ईवी एक्सपो के आयोजक श्री राजीव अरोरा ने कहा  ” आज चारों तरफ फैली प्रदूषण की समस्या के मद्देनज़र इलेक्ट्रिक वाहनों के प्रति बढ़ती जागरूकता और जरुरत को देखते हुए, ईवी एक्सपो जैसे मंच की बहुत जरुरत है। एक्सपो के आठवें और अब तक से सबसे बड़े संस्करण में पर्यावरण अनुकूल अन्य इ वाहनों के आलावा ई-कार और पहली बार ई-बसें भी प्रदर्शित होंगी l कई नई गाड़ियों की लॉन्च भी होगीl हम मौजूदा डीज़ल और पेट्रोल पे चलने वाले वाहनों को इलेक्ट्रिक वाहनों में बदलनें वाली टेक्नोलॉजी भी ले कर आये हैं l ईवी एक्सपो २०१८, ई—व्हिकल इंडस्ट्री के उत्पादकों, उपभोग्ताओं,  टेक्नॉलोजी और सेवा प्रदान करने वाले, इस्तेमाल करने वाले और निर्णय करने वाले सभी साझेदारों को एक साथ आने और सरकारी पॉलिसी द्वारा प्रदान किए गए अवसर तथा इंडस्ट्री में नये विकास से लाभ उठाने का उचित प्लेटफॉर्म है। ”

इस एक्सपो के दौरान 22 दिसंबर को “इलेक्ट्रिक  व्हीकल्स – सस्टेनेबल  ट्रांसफॉर्मेशन  ऑफ़  इंडियन  मोबिलिटी”  पर विचार करने के लिए एक दिवसीय कांफ्रेंस का आयोजन  IFGE (इंडियन फेडरेशन ऑफ़ ग्रीन  एनर्जी ) तथा CIRT (सेंट्रल  इंस्टिट्यूट  ऑफ़  रोड  ट्रांसपोर्ट ) द्वारा किया जा रहा है l इस कांफ्रेंस का उद्घाटन भारी उद्योग और सार्वजनिक उद्यम राज्य मंत्री श्री बाबुल सुप्रियो करेंगे I

अनुज शर्मा, अध्यक्ष ई -रिक्शा समिति, सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय, भारत सरकार ने कहा “क्योंकि इलेक्ट्रिक वाहन अपेक्षाकृत एक नया और तेज़ी से बढ़ रहा वर्ग है, इसमेंरोज़गार ,व्यवसाय और निवेश के बहुत मौके हैं जैसे उत्पादन, स्टॉकिंग और वितरण , अनुसन्धान और सर्विसेज आदि सरकार ‘प्रधान मंत्री कौशल विकास योजना ‘ के तहत रोज़गार कौशलतथा  ‘पीएम मुद्रा बैंक योजना’ के तहत ऋण प्रदान कर रही है जिससे लाखों लोगों को रोजगार  और इलेक्ट्रिक वाहन इंडस्ट्री को प्रोत्साहन मिलेगा ”

 

ईवी एक्सपो 2018 सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा समर्थित है, और इसे MSME(सूक्ष्म लघु एवं मझौले उद्यम), NSIC(राष्ट्रीय लघु उद्योग निगम), ICAT(इंटरनेशनल सेंटर फॉर ऑटोमोटिव टेक्नोलॉजी) तथा  PMKVY (प्रधान मंत्री कौशल विकास योजना) के सहयोग से आयोजित किया जा रहा है।

यहाँ अपने उत्पाद प्रदर्शित करने वाली कुछ प्रतिष्ठित भारतीय कम्पनियां शामिल हैं जैसे  – महिंद्रा  इलेक्ट्रिक  मोबीलिटी,  गोएंका  इलेक्ट्रिक  मोटर  व्हीकल्स , एस यू  ऑटोमोटिव , ऑटोलाइट(इंडिया) लिमिटेड, चैंपियन  पॉलीप्लास्ट , हिम  टेक्नोफॉर्ज, ठुकरालइलेक्ट्रिक, ग्रीनफियूल एनर्जी  सोलूशन्स, पास्तीचे  एनर्जी  सोलूशन्स, ओकाया  पावर, फुजियामा पावर  सिस्टम्स ,ऑल्टियस टेकोनोलॉजीज़ तथा  सोनी इ-व्हीकल्स इत्यादि।

विदेशी प्रदर्शकों में चीन की संख्या सबसे अधिक है, जिनकी तकरीबन 35 चीनी कंपनियां अपने ई-वाहन उत्पादों का प्रदर्शन कर रहीं हैं। इनमें प्रमुख हैं- जहेजिआंग नारदा पावर सोर्सकंपनी लिमिटेड,  पुबांग इट्रोन  इलेक्ट्रिक  मोटर  प्राइवेट लिमिटेड, सी व्हाई इंटरनेशनल, जिआंगसु जिंतेइबओ मशीनरी मैन्युफैक्चरिंग कंपनी इत्यादि।