भारतीय ऑटोमोबाइल इंडस्ट्री में अपने नित नए सफल उत्पादों से ग्राहकों का दिल जीत रही टाटा मोटर्स एक बार फिर से एक बड़ा धमाका करने में सफल रही है। इस बार टाटा मोटर्स ने जिनीवा ऑटो शो में अपनी बहुप्रतीक्षित ई-विजन कांसेप्ट कार का ग्लोबल प्रीमियर किया। माना जा रहा है कि आने वाले वक्त में यह कार टाटा मोटर्स के इस ब्रांड की फ्लैगशिप सेडान बन सकती है। ई-विजन को जगुआर लैंड रोवर के साथ मिलकर लैंड रोवर डिस्कवरी प्लैटफॉर्म ‘ऑप्टिमल मॉड्यूलर एफिशिएंट ग्लोबल अडवांस्ड’ आर्किटेक्चर के साथ तैयार किया गया है।

  • जिनीवा ऑटो शो में टाटा ने ई-विजन कांसेप्ट कार को पूरी दुनिया को दिखाया
  • एक फुल चार्ज पर तय करेगी यह 300 किलोमीटर की दूरी
यह एक बड़ी सेडान है जिसका मुकाबला लंबाई के मामले में टोयोटा की कैम्री से हो सकता है। बताया जा रहा है कि एक फुल चार्ज में यह 300 किलोमीटर की दूरी तय कर सकती है। महज 7 सेकेंड में 100 किलोमीटर प्रति घंटे तक रफ्तार पकड़ने में यह पूरी तरह से सक्षम है। इसके प्रीमियर को इसलिए भी खास माना जा रहा है क्योंकि इसी दिन जगुआर ने अपनी इलेक्ट्रिक कार आई-पेस को भी लॉन्च किया। इस कार के ग्लोबल प्रीमियर के साथ टाटा ने यह बता दिया कि आने वाले वक्त में वह ‌इलेक्ट्रिक कारों के प्रति क्या रुख अपनाने जा रही है। बताया जा रहा है कि 2022 तक टाटा मोटर्स की ज्यादातर कारें किसी न किसी रूप में इलेक्ट्रिक होंगी। कहने का मतलब है ‌कि कंपनी के पास माइल्ड हाइब्रिड, हाइब्रिड, प्लगइन हाइब्रिड व पूरी तरह से इलेक्ट्रिक कारों की एक रेंज होगी। जगुआर ने आधिकारिक तौर पर पहले ही बता दिया था कि 2020 के बाद उसके ज्यादातर प्रोडक्ट इलेक्ट्रिक होंगे।
टाटा मोटर्स के एमडी ने गुंटर बुश्चेक ने कार के ग्लोबल प्रीमियर के मौके पर कहा, ‘ई-विजन सिडैन कॉन्सेप्ट गेम चेंजर साबित होगी जो वर्ल्ड क्लास डिजाइन ऑफर करने और ठोस भविष्य के लिए इलेक्ट्रिक वीइकल रेवॉलूशन को बढ़ावा देने के हमारी प्रतिबद्वता को दर्शाती है।’
आपकी जानकारी के लिए बताते चलें कि आने वाले सालों में स्पोर्ट्स इलेक्ट्रिक वाहन विकसित करने के लिए महिंद्रा एंड महिंद्रा व टाटा मोटर्स इटैलियन डिजाइन हाउस पिनइनफेरिना के साथ हाथ मिला रही हैं। महिंद्रा एंड महिंद्रा ने इस कंपनी को दो साल पहले खरीदा था। कंपनी ने जिनीवा इंटरनैशनल मोटर शो में एच5एक्स और 45एक्स एसयूवी के अलावा एक प्रीमियम हैचबैक की झलक दिखाई है जिसका प्रीमियर पिछले महीने ग्रेटर नोएडा के ऑटो एक्सपो में किया गया था।
टाटा मोटर्स ने कहा है कि इंपैक्ट 2.0 डिजाइन के तहत डिवेलप्ड उसकी कॉन्सेप्ट कारों का बाहरी स्वरूप बड़ा आकर्षक है और अंदरूनी माहौल शानदार है। ये कारें कस्टमर्स की बढ़ती इच्छाओं को पूरी करने में सक्षम हैं और कनेक्टिविटी और इंफोटेनमेंट के लिहाज से फ्यूचर रेडी इनट्यूटिव फीचर्स से संपन्न हैं। बुश्केक ने कहा कि टाटा मोटर्स भारत सरकार के इलेक्ट्रिक मोबिलिटी मिशन को लेकर पूरी तरह से कृतसंकल्प है। उन्होंने बताया कि कंपनी इलेक्ट्रिफिकेशन के अलग-अलग लेवल पर काम शुरू कर चुकी है।
टाटा मोटर्स सबसे पहले इलेक्ट्रा ईवी में प्लग ऐंड प्ले सॉल्यूशंस देगी जिससे टियागो, टिगोर, मैजिक आइरिस और एस जैसी कम वोल्टेज वाली गाड़ियों को एनर्जी मिलेगी। दूसरी वह इलेक्ट्रिफिकेशन के लिए नई पीढ़ी के अल्फा और ओमेगा आर्किटेक्चर को मोडीफाई करेगी जिससे उनको ज्यादा मोबिलिटी रेंज वाली तेज रफ्तार गाड़ियां हासिल होंगी। इन सबके लिए टाटा मोटर्स लॉन्ग टर्म में डेडिकेटेड इलेक्ट्रिक वीइकल आर्किटेक्चर की योजना को साकार रूप देने में लगी है। विशेषज्ञों की मानें तो आने वाले वक्त में टाटा व महिंद्रा इलेक्ट्रिक वाहनों में अपने सबसे ज्यादा योगदान देंगी।