कॉमर्शियल वाहन सेगमेंट में FURIO के जरिए महिंद्रा एंड महिंद्रा ने इंटरमीडिएट कॉमर्शियल वेहिकल यानी कि आईसीवी में दस्तक दे दी है। इस वर्ग में महिंद्रा पूरी रेंज के साथ आ रहा है। कंपनी ने अपने चाकन स्थित मैन्यूफैक्चरिंग प्लांट पर FURIO को अनवील किया। इस रेंज में उतरने से पहले महिंद्रा ने 17किलोमीटर की टेस्टिंग की जिसमें कई तरह के ट्रायल शामिल थे। टेस्टिंग के दौरान इसकी हाईवे योग्यता को कई कठिन घाटों व खराब सड़कों पर परखा गया। जिन राहों पर ये टेस्टिंग प्रक्रिया हुई उनमें हाईवे, सिंगल व डबल रोड हाईवे शामिल थे। इसको विकसित करने के लिए महिंद्रा एंड महिंद्रा ने 600 करोड़ का निवेश किया जिसमें कंपनी के 500 इंजीनियरों व 180 सप्लायर्स ने अपना योगदान दिया।

इसके अनवीलिंग के मौके पर महिंद्रा एंड महिंद्रा के मैनेजिंग डायरेक्टर डॉ पवन गोयंका ने बताया,”फ्यूरियो की रेंज का अनावरण हमारे ट्रक और बस व्यवसाय के लिए एक अप्रतिम क्षण है क्योंकि हम इसके जरिए एक नए वर्ग में प्रवेश करने के लिए तैयार हैं और हम इसके साथ एक पूर्ण श्रेणी वाणिज्यिक वाहन प्लेयर बन गए हैं। पिनिनफारिना-प्रेरित डिजाइन के साथ, Furio हमारे लिए और शायद उद्योग के लिए गेम परिवर्तक बनने वाला है, जिससे नया ट्रक सबसे सुरक्षित, सबसे एर्गोनोमिक और आरामदायक केबिन में से एक है जो नए मानकों को स्थापित करेगा। मुझे विश्वास है कि ब्लेज़ो एचसीवी श्रृंखला की तरह, आईसीवी की Furio रेंज भी प्रदर्शन, कमाई और ग्राहकों को बेहतर मूल्य प्रदान करने के लिए नए मानक स्थापित करेगी।”

चाकन में आईसीवी रेंज के अनावरण पर बोलते हुए, महिंद्रा एंड महिंद्रा के ऑटोमोटिव सेक्टर के अध्यक्ष राजन वाधेरा ने कहा, “महिंद्रा फुरियो महिंद्रा की भारतीय ग्राहकों को सर्वश्रेष्ठ लाने की क्षमता की गवाही देता है, इसमें हमने कोई कोताही नहीं बरती है। फ्यूरियो का लॉन्च महिंद्रा की एचसीवी श्रृंखला के ट्रक, ब्लेज़ो की सफल शुरुआत के ऊपर आता है, जिसके परिणामस्वरूप महिंद्रा के लिए पर्याप्त मात्रा और बाजार हिस्सेदारी में वृद्धि हुई। आईसीवी की इस नई श्रृंखला के अतिरिक्त, एमटीबी भारतीय सीवी बाजार में एक पूर्ण ट्रकिंग समाधान प्रदाता के रूप में उभर जाएगा। “