इलेक्ट्रिक वाहनों की दुनिया में देश में सबसे ज्यादा काम कर रही महिंद्रा एंड महिंद्रा ने एक क्रांतिकारी कदम के तहत देश के पहले लिथियम ऑयन बैट्री वाले ऑटो ट्रियो को लॉन्च किया है। इस ऑटो को कंपनी ने बेंग्लूरू के अपने प्लांट में लॉन्च किया। ये एक शानदार ऑटो है जिसमें न सिर्फ ड्राइवर की कमाई का बल्कि पैसेंजर के कंफर्ट का भी पूरा ध्यान रखा गया है। आइए आपको बताते हैं इस ऑटो की खासियत। इस ऑटो को हमने महिंद्रा एंड महिंद्रा के बेंग्लूरू प्लांट पर चलाकर भी देखा। इस ऑटो के साथ कंपनी ने अपने इलेक्ट्रिक रिक्‍शा ट्रियो यारी को भी पेश किया।

खास बातेंः-

  • कीमत है 2 लाख 22 हजार रुपये
  • ये है पहला लिथियम ऑयन बैट्री वाला ऑटो
  • फुल चार्जिंग पर 130 किलोमीटर की दूरी तय करता है

चलाने में है आसान
इस ऑटो को चलाना बेहद आसान है। इसका स्टीयरिंग पारंपरिक ऑटो वाला ही है लेकिन इसमें कोई क्लच नहीं है जिससे अब चालक को अपना हाथ दुखाने की जरूरत नहीं है। इसके राइट हैंड लीवर पर एक लाल बटन दिया गया है अगर आपको ऑटो रिवर्स करना है तो आर के तरफ बटन का नॉब कर दें और ड्राइव करना है तो बस ड्राइव पर इसे रखें। ब्रेक को दबाएं इसके बाद सिर्फ एक्सीलरेट करते रहें। ब्रेक लीवर पर पैरों पर दिया गया है जबकि राइट हैंड पर एक हैंड ब्रेक भी है। सुरक्षा के लिहाज से चाभी लगाने के बाद ये ऑटो तब तक आगे नहीं बढ़ेगा जब तक आप ब्रेक को एक बार पुश नहीं करेंगे। ड्राइवर के जरूरी सामानों व पैसे को रखने के लिए स्टोरेज भी डैश पर दिया गया है। ये स्कूटर 45 किमीप्रघं की गति से भाग सकता है। इसको चार्जिंग करना बेहद आसान है इसे जहां मौका मिले किसी भी सामान्य बिजली बोर्ड से कनेक्ट कर दें। कंपनी इस ऑटो के साथ चार्जर फ्री देती है लेकिन एक बार चार्जर गायब हो गया तो उसे खरीदने के लिए आपको 10 हजार रुपये चुकाने पड़ेंगे। फिलहाल इसकी कीमत कंपनी ने 2 लाख 22 हजार रुपये रखी है। और इस तरह से देश में पहला इथियम ऑयन बैट्री वाला ऑटो लॉन्च हो गया।

साढ़े तीन घंटे में होगा चार्ज
महिंद्रा का ट्रियो इलेक्ट्रिक ऑटो तीन घंटे 50 मिनट में पूरी तरह से चार्ज हो जााएगा। इसे एक बार चार्ज करने के बाद 130 किमी चलाया जा सकता है। अगर इसे और चलाना है तो बीच अंतराल में भी आप चार्ज कर सकते हैं यदि आप इसे ढाई घंटे चार्ज करेंगे तो ये 85 किमी की दूरी तय कर लेगा। वहीं कंपनी का इलेक्ट्रिक रिक्‍शा ट्रियो ढाई घंटे की चार्जिंग पर 85 किलोमीटर की दूरी तय करता है। इस नए प्लांट से उसकी विनिर्माण क्षमता बढ़कर प्रतिवर्ष 25 हजार इकाई हो जाएगी। कंपनी ने कहा कि +एमई ब्रांड के तहत इस प्लांट में बैटरी पैक, पावर इलेक्ट्रोनिक्स और मोटर एसेंम्बली का निर्माण किया जाएगा।

पांच साल तक बैट्री की नो टेंशन
इस ऑटो में लीथियम आयन बैटरी का यूज किया गया है। ये मेंटेनेंस फ्री बैटरी है, वहीं इसका रखरखाव भी बहुत आसान है। कंपनी का कहना है कि बैटरी की लाइफ 5 साल की है। यानी बिना झंझट के इस ऑटो को 5 साल तक चला सकते हैं। इलेक्ट्रिक होने के वजह से इससे किसी भी तरह का प्रदूषण नहीं होता। दिल्‍ली एनसीआर की मौजूदा हालात का यह ऑटो सबसे बढ़िया जवाब है।

बनेंगे रोजगार के अवसर
कंपनी ने कहा कि इस संयंत्र से 200 लोगों को रोजगार का प्रत्यक्ष अवसर मिलेगा। महिंद्रा एंड महिंद्रा के प्रबंध निदेशक एवं महिंद्रा इलेक्ट्रिक के चेयरमैन पवन गोयनका ने कहा, “इलेक्ट्रिक प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में विनिर्माण संयंत्र स्थानीय मूल्यवर्धन तथा देश में किफायती इलेक्ट्रिक वाहन लाने की दिशा में कंपनी का अगला कदम है. 2010 से हम इसे विकसित कर रहे हैं और इलेक्ट्रिक व्हीकल में निवेश कर रहे हैं। हालांकि भारत में इलेक्ट्रिक व्हीकल का निर्माण देर से शुरू हुआ फिर भी हमारा विश्वास है कि इसकी गति में तेजी आएगी। ”

ट्रियो का देखें पूरा वीडियो बेंग्लूरू सेः-