” नेक्सॉन के बाद एक बार फिर टाटा ने हैरियर से सबको चौंका दिया है। देखना दिलचस्प होगा कि ये किस कीमत पर भारतीय बाजार में अपना डेब्यू करेगी। हमने इस गाड़ी को जोधपुर में चलाया आइए आपको बताते हैं कि ये गाड़ी चलाने में कैसी है। “
बीते एक दशक में टाटा इतनी बदल गई है कि अब सिर्फ टाटा का लोगो ही पहचान में आता है इसके अलावा इसमें कुछ और ऐसा नहीं रह गया है जिसकी तुलना आप कंपनी की पुरानी कारों से कर सकें। बहुत से लोग ये मानते हैं कि ऐसा इसलिए हुआ क्योंकि टाटा ने जगुआर लैंड रोवर का अधिग्रहण कर लिया। लेकिन मुझे इसमें कोई दिलचस्पी नहीं है क्योंकि मुझे बस ये देखने में मजा आ रहा है कि एक भारतीय कंपनी ऐसा कर रही है जो अभी तक भारत में आकर विदेशी कार कंपनियां नहीं कर पाई थीं। टाटा एक इमानदार कंपनी है और हमेशा भारतीयता का मान हर जगह इसने बढ़ाया है। जैगुआर लैंड रोवर का अधिग्रहण हो सकता है कि सिर्फ एक सौदा रहा हो लेकिन हम भारतीयों का सिर इससे गर्व से ऊंचा हो गया है। देश की पहली वो कार टाटा ने ही बनाई जिसे पांच स्टार एनसीएपी रेटिंग मिला। जी हां मैं बात कर रहा हूं नेक्सॉन की। और अब जब नये साल का सवेरा अपनी किरणें धरती पर बिखेर रहा होगा उसी दौरान कंपनी अपनी एक और कार हैरियर को लॉन्‍च कर देगी। हमने हैरियर को जोधपुर के राजपूताना माहौल में चलाया और जानने की कोशिश की कि आखिर ये कार लोगों के लिए कितना मायने रखती है। इस पूरे रिव्यू में हैरियर के बारे में विस्तार से बात करेंगे तो आप जुड़े रहिए और पढ़िए हैरियर के बारे में। हैरियर का अस्तित्व 2018 के ऑटो एक्सपो में टाटा के बड़े से पंडाल के एक कोने में नजर आई एक कांसेप्ट जिसका नाम था एचएक्स5 और 2018 खत्म होने से पहले इसने एक साकार रूप ले लिया और हैरियर के रूप में ये हमारे सामने प्रगट हो चुकी है। अगर आप गाड़ियों में जरा सी भी दिलचस्पी रखते होंगे तो ये बात अच्छे से जानते होंगे। इसका मुकाबला किससे होगा जीप कंपास, हुंडई क्रेटा या फिर किसी और गाड़ी से ये तब पता चलेगा जब कंपनी इसे लॉन्च कर देगी। ये पहली कार है टाटा की जिसे इतने प्रीमियम अंदाज में डिजाइन किया गया है। अगर टाटा का लोगो इस पर नहीं होता तो इसकी कीमत का अंदाजा कोई भी लगा सकता था लेकिन लगातार तरक्की की ओर बढ़ रही इस कार कंपनी की इस कार की कीमत को गेस करना इतना आसान नहीं है। मैंने इसकी कीमत से 14 से 15 लाख के बीच में अनुमानित की है। जनवरी 2019 में लॉन्च होने जा रही हैरियर ओमेगा आर्क प्लेटफॉर्म पर आधारित है-ये वही प्लेटफॉर्म है जिस पर लैंड रोवर डिस्कवरी और रेंज रोवर इवोक बनी है। इसमें आपको साउंड सिस्टम जेबीएल का मिलेगा व इंजन फिएट का रियर सस्पेंशन टोर्जन बीम सेटअप है जो कि काफी किफायती होता है। लेकिन इसके बावजूद इस कार की पूरी डिजाइन टाटा की है। बाहर से दिखने में टाटा ने हैरियर के डिजाइन को काफी हद तक एच5 एक्स के करीब रखा है, एचएक्स5 फरवरी 2018 के ऑटो एक्सपो में नजर आई थी, और ये प्रयोग कंपनी ने इसके पहले अपने नेक्सॉन पर भी किया था जो कि काफी सफल रहा। कुल मिलाकर यह एक सफल डिजाइन के साथ आकर्षक अंदाज में आई है इसे देखकर ऐसा लगता है कि कंपनी ने इसकी कीमत कुछ भी रख सकती है। इसमें दिए गए जेनन प्रोजेक्टर हेडलैंप कार को पूरी तरह से कांप्लीमेंट करते हैं। रात के अंधेरे में हैरियर एक अलग चमक बिखेरती है। इसकी ब्लेड की जैसी एलईडी अपना काम पूरी तन्मयता के साथ करते हैं जबकि इसमें लगे डेटाइम रनिंग लैंप इंडीकेटर काफी आक्रामकता के साथ पेश किए गए हैं। ग्लॉसी ब्लैक रंग का इसका ग्रिल हैरियर को एक अलग गाड़ी की श्रे्णी में खड़ा करता है। इसके बड़े व्‍हील आर्च पर 235/65 आर 17 टायर छोटे लगते हैं लेकिन इसका पता तब चलता है जब आप बहुत गौर से इसे देखते हैं। इसमें काले पियानो ब्लैक फिनिश का शानदार इस्तेमाल दिखता है साथ ही क्रोम के इस्तेमाल से इसके डिजाइन को पूरी तरह से दूर रखा गया है। हैरियर को बड़े अलग अक्षरों में पीछे इस तरह से दर्ज किया गया है जैसे कई प्रीमियम एसयूवी में नजर आता है। कुल मिलाकर जब आप इसे आगे से देखना शुरू करते हैं और पीछे की ओर जाते हैं तो कहीं से भी ये गाड़ी आपको बोर नहीं करती। टाटा की यही गुणवत्ता है जिससे इसकी तारीफ अब सिर्फ मैं नहीं बल्कि बहुत से लोग कर रहे हैं। इंटीरियर में हैरियर का इंटीरियर काफी प्रभावशाली है जहां एक ओर इसकी सीटें परफोरेटेड लेदर के साथ बढ़िया लंबर सपोर्ट देती हैं तो वहीं दूसरी ओर ढेर सारे अत्याधुनिक फीचर्स इस गाड़ी को बेहद एडवांस भी बनाते हैं। इसमें आपको मिलेगा 8.8-इंच का टचस्क्रीन इन्फोटेनमेंट सिस्टम व डैशबोर्ड पर ग्रे और ब्राउन कलर में ड्यूल टोन फिनिश। सेंटर कंसोल पर बटन काफी कम दिए गए हैं। थ्री-स्पोक मल्टी-फंक्शन स्टीयरिंग अलग डिजाइन का है जो कि इसके इंटीरियर से काफी मेल खाता है। इसके टचस्क्रीन इन्फोटेनमेंट सिस्टम नेविगेशन, ब्लूटूथ टेलिफोन, रिवर्स कैमरा डिस्प्ले, मिरर लिंक, ऐंड्रॉयड ऑटो, ऐपल कार प्ले समेत अन्य फीचर्स से लैस हैं जबकि इसका इन्फोटेनमेंट सिस्टम विस्टोन से लिया गया है, जो रेंज रोवर वेल्लार में मिलता है। इंजन व परफॉर्मेंस हैरियर में 2.0 लीटर वाला क्रियोटेक इंजन दिया गया है। यह इंजन 140 एचपी की शक्ति व 350 एनएम का टॉर्क देता है। आपको जानकर हैरानी होगी ये वही इंजन है जो जीप कंपास में अपनी भूमिका अदा कर रहा है जो कि हैरियर की एक बड़ी प्रतिद्वंद्वी के तौर पर देखी जा रही है। यह 6 स्पीड मैनुअल गियरबॉक्स से सुसज्जित है। इसके परफॉर्मेंस की बात करें तो चाहे बात ओवरटेकिंग की हो या फिर कॉर्नरिंग की आपको यह कहीं से भी निराश नहीं करती। लेकिन इंजन का न्वाइस आपको जरूर डिस्टर्ब करता है। निष्कर्ष इस गाड़ी की हर सीट में आराम का तड़का और ये गाड़ी सड़क पर फिलहाल एकदम अलग नजर आती है। अगर टाटा ने इसकी कीमत 14 लाख के नीचे रखने में सफलता पाई तो ये मानकर चलिए टाटा के पास एक और ऐतिहासिक प्रोडक्ट है जिसमें लोगों की दिलचस्पी है। 2741 मिलीमीटर व्हीलबेस के साथ ये अपना काम अच्छे से पूरा करती है और केबिन में ढ़ेर सारी जगह प्रदान कर देती है। 2020 में इस गाड़ी को कंपनी 7 सीटर बना देगी। ढेर सारे फीचर्स व युटीलिटी स्पेस के साथ हैरियर कई मामलों में कई बड़ी लग्जरी गाड़ियों के कद तक पहुंच रही है। देखना दिलचस्प होगा कि किस कीमत पर ये भारतीय बाजार में अपना कदम रखती है। पर ये एक बढ़िया सौदा है जिससे आप एक लग्जरी एसयूवी की चाहत पूरी कर सकते हैं। वीडियो रिव्यू देखें ः-